डेंटल इंप्लांट | खर्च | टाइम | दर्द | के बारे मे सारी जानकारी।

Table of Contents

इंट्रो

तो दोस्तों आपका स्वागत है। इस आर्टिकल में आज हम बात करेंगे डेंटल इंप्लांट के बारे में। इस आर्टिकल में डेंटल इंप्लांट से जुड़े सभ सवालों का उत्तर आपको दिया जाएगा। जैसे की डेंटल इंप्लांट क्या होता है ? डेंटल इंप्लांट में कितना समय लगता है ? डेंटल इंप्लांट में कितना खर्चा होता है ? और आदि कई सारे सवालों का उत्तर इस आर्टिकल में दिया जाएगा। तोह चलिए इस आर्टिकल को शुरू करते हैं।

नोट

इस आर्टिकल में बताई गई चीजें हर शहर के लिए अलग अलग हो सकती है। जैसे की इलाज का खर्चा। इलाज का समय। यह आर्टिकल को पढ़ कर आपको एक अंदाजा हो जाएगा डेंटल इंप्लांट के बारे में। बाकी आप अपने नजदीकी डेंटिस्ट से इसके बारे में जान सकते है।

Q1. डेंटल इंप्लांट क्या होता है ?

डेंटल इंप्लांट

Ans. जब आपका दांत टूट जाए। या किसी करणवर्षह वह खराब होके बाहर निकल जाए। तो उसे ठीक करने के लिए डेंटिस्ट डेंटल इंप्लांट की सलाह दे सकते है। डेंटल इंप्लांट में क्राउन + एब्यूटमेंट + स्क्रू इन तीनो का इस्तेमाल करके आपके जहा से दांत निकल गया है। इस जगह पर आर्टिफिशियल दांत लगा दिया जाता है।

Q2. डेंटल इंप्लांट में स्क्रू किस प्रकार का होता है ?

Ans. इस में जो स्क्रू इस्तेमाल किया जाता है। वह टाइटेनियम या जिरकोनिया धातु का होता है। क्योंकि टाइटेनियम और जिरकोनिया बिना कोई रिएक्शन करे आपकी हडी के साथ जुड़ जाते है।

Q3. डेंटल इंप्लांट कैसे किया जाता है ?

Ans. जब आप इंप्लांट करवाने की सोचते है। तो सबसे पहले आपका डेंसटिस्ट आपका एग्जामिनिनेशन करेगा। और आपके अनुसार आपको डेंटल इंप्लांट का प्लान बताएगा। और फिर अपना CBCT स्कैन किया जाएगा। जिसमें आपके बोन की क्या लंबाई और चौड़ाई है। उसे देखा जाता है। फिर इसके बाद इंप्लांट आपकी हडी के अंदर डाल दिया जाता है। और इसके बाद तकरीबन 3 से 4 महीने का समय लिया जाता है। और यह देखा जाता है। की क्या इंप्लांट आपकी हडी के साथ जुड़ गया है। उसके बाद एब्यूटमेंट लगाकर उसके ऊपर क्राउन लगा दिया जाता है। और इस प्रकार डेंटल इंप्लांट किया जाता है।

Q4. डेंटल इंप्लांट कितने प्रकार के होते है ?

Ans. इंप्लांट दो प्रकार के होते है। जो की कुछ इस प्रकार है।

  1. कन्वेंशनल इंप्लांट
  2. बैजल इंप्लांट

कन्वेंशनल इंप्लांट 

इसमें मरीज के एक चीरा लगाया जाता है। जहा पर इंप्लांट करना होता है। इसमें 3-4 महीनो तक डॉक्टर इंतजार करते है। क्राउन को लगाने के लिए।

बैजल इंप्लांट

इस इंप्लांट में कोई बोन क्राफ्टिंग मतलब की कोई चीरा नही लगाया जाता। और इसमें 3-4 दिन के अंदर ही दांत को पूरी तरह से लगा दिया जाता है।

Q5. इंप्लांट में कितना खर्चा आता है?

Ans. डेंटल इंप्लांट में आपका कितना खर्चा होगा यह कई चीजों पर निर्भर करता है। जैसे की आप किस प्रकार की इंप्लांट करवा रहे है। अगर आप कन्वेंशनल इंप्लांट करवाते है। तो आपको यह देखना होगा की आपका डेंटिस्ट उसके लिए किस कंपनी का प्रोडक्ट इस्तेमाल कर रहे है। इंप्लांट करने के लिए। आप यह मान के चलिए की आपका खर्चा 25 हजार से 60 के बीच आ सकता है। और अगर आप बैजल इंप्लांट को चुनते है। तो इसमें भी एक इंप्लांट का खर्चा आपको 25 से 30 हजार आ जायेगा। आप बिलकुल सही खर्चा जानने के लिए अपने नजदीकी डेंटिस्ट से सलाह ले सकते हैं।

Q6. डेंटल इंप्लांट में कितना दर्द होता है ?

Ans. इंप्लांट हो करने से पहले आपको लोकल एनेस्थीसिया दिया जाता है। जिसके कारण आपको इंप्लांट लगाते समय किसी प्रकार का दर्द महसूस नहीं होता है।

Q7. डेंटल इंप्लांट के क्या नुकसान है ?

Ans. इंप्लांट का कोई भी नुकसान नहीं होता है। क्योंकि इसमें जो स्क्रू इस्तेमाल होता है। वह टाइटेनियम का होता है। जिसका आपके शरीर में कोई भी रिएक्शन नहीं होती है।

Q8. क्या डेंटल इंप्लांट का कोई और उपाय है ?

Ans. आज के समय में अगर आपको अपने एक दांत को रिप्लेस करवाना है। तो इंप्लांट से बेहतर कोई भी रास्ता नहीं है। आप डेंटल ब्रिज का इतेमाल भी कर सकते है। लेकिन उसमे आपको दांतो की सपोर्ट चाहिए होगा ब्रिज को लगाने के लिए। आप इसके बारे में अपने डॉक्टर से सलाह ले सकते है। जिससे वह आपको बता देंगे की आपके लिए डेंटल ब्रिज सही रहेगा या इंप्लांट।

Q9. डेंटल इंप्लांट के फायदे क्या है ?

Ans. डेंटल इंप्लांट के फायदे कुछ इस प्रकार है।

  1. इंप्लांट एक लाइफ टाइम इन्वेस्टमेंट है।
  2. इंप्लांट करवा लेने के बाद कैविटी होने का कोई खतरा नहीं रहता है। डेंटल इंप्लांट की जगह पर।
  3. इंप्लांट में जो क्राउन लगाया जाता है। वह बिलकुल असली दांत की तरह ही दिखता है।

Q10. इंप्लांट करवाते समय क्या दिक्कत आती है ?

Ans. इंप्लांट के समय आपको यह दिक्कत आ सकती है की

  1. इंप्लांट एक बार में ही नही होगा। इसमें आपको कई बार डेंटिस्ट के पास जाना पड़ेगा।
  2. इंप्लांट में आपको 3-4 महीने इंतजार करना पड़ सकता है। क्राउन को चढ़ाने के लिए।
  3. एनेस्थीसिया का असर खत्म होने के बाद आपको दर्द महसूस हो सकता है। लेकिन वह आप पेनकिलर लेके कुछ समय के लिए रोक सकते है।

Q11. इंप्लांट हो लगवाने के बाद आपको किन बातों का खयाल रखना है ?

Ans. इंप्लांट करवा लेने के बाद आपको

  1. रोजाना ब्रश करना है।
  2. खाना खाने के बाद कुर्ली करनी है। जिससे खाना आपके इंप्लांट के आस पास नही फसेगा।
  3. आप रोजाना फ्लॉस करे जिससे अपने दांत में अगर कोई खाना फसा होगा तो वह निकल जायेगा।

Q12. इंप्लांट या ब्रिज दोनो में से क्या बाडिया है ?

Ans. अगर आपका एक दांत गिर गया है। तोह आप डेंटल इंप्लांट करवा सकते है। ब्रिज लगवाने के लिए आपको दांतो का सपोर्ट चाहिए होता है। जिससे आप ब्रिज को दांतो मे बिठा सके। लेकिन अगर आप कई ऐसी जगह पर इंप्लांट करवाना चाहते है। जहा हडी नही है। तो वह पर इंप्लांट नहीं सकता है। बाकी इंप्लांट में आपके आस पास के कोई दांतो को घिसा नही जाता। जबकि ब्रिज में आपके आस पास के दांतो को घिसा जाता है।

Q13. मेरी उम्र 50+ है। क्या मैं इंप्लांट करवा सकता/सकती हु ?

Ans. जी हां आप इंप्लांट करवा सकते है। लेकिन इसके लिए आपको आपके डेंटिस्ट से सलाह लेनी होगी। क्योंकि अगर आप एक दम स्वस्थ है। तो आपको इंप्लांट में कोई दिक्कत नही आयेगी।

फीडबैक

तो मैं आशा करता हूं आपको आपके ड्नेटक इंप्लांट से जुड़े हर सवाल के उत्तर मिल गए होंगे लेकिन फिर भी अगर कोई प्रशन आपके मन में है। तो आप उससे कॉमेंट में पूछ सकते है। हम आपके सवाल का उत्तर जरूर देंगे। और अगर आपके पास कोई सुझाव है। तो आप इस पर क्लिक करके अपना सुझाव हमें भेज सकते है। धन्यवाद।

Rate this post
Share with your freinds
0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!