रूट कैनाल (RCT) | खर्च | टाइम | दर्द | के बारे मे सारी जानकारी।

इंट्रो | Intro

दोस्तों आज के आर्टिकल में हम रूट कैनाल के बारे मे बात करेंगे। कि आपके डेंटिस्ट आपको RCT (Root canal treatment) क्यों बताते हैं।  आरसीटी आपको कब करवानी चाहिए। और आरसीटी के बाद आपको किन बातों का ध्यान रखना चाहिए। तो इस आर्टिकल में हम इन्हीं चीजों पर चर्चा करेंगे। तो चलिए इस आर्टिकल को शुरू करते हैं।

Q1- आरसीटी ( रूट कैनाल ट्रीटमेंट ) क्यों करवानी चाहिए ?

रूट  कैनाल

Ans. सबसे पहले जानते हैं कि आरसीटी करवाने की जरूरत क्यों पड़ती है। आपके दांतो की 3 लेयर होती हैं। सबसे पहली लेयर का नाम एनिमल (Enamel)। और दूसरी लेयर का नाम होता है डेनटिन (Dentin)। और तीसरी लेयर होती है पल्प (Pulp)। जिसे आप जड़ भी कह सकते हैं। जब दांत में कीड़ा (Cavity) लगता है। तब वह सबसे पहले दांत की पहली सतह (Enamel) पर वार करता है। उसके बाद दूसरी सतह (Dentin) पर वार करता है। और जब वह कीड़ा आपके तीसरी सतह (Pulp) पहुंचता है तो उसके बाद आपको दर्द शुरू हो जाता है। और आपकी पल्प (Pulp) में इंफेक्शन हो जाती है। उस इन्फेक्शन (Infection) को निकालने के प्रोसेस (Process) को रूट कैनाल ट्रीटमेंट कहते हैं। तो अभी मैं आशा करता हूं। आपको पता चल गया होगा। कि आपको आरसीटी कब करवानी चाहिए। और इसे क्यों किया जाता है।

नोट = 7 प्राकृतिक नुस्खे दांतों, मसूड़ों की मजबूती के लिए।

Q2- रूट कैनाल ट्रीटमेंट कैसे किया जाता है ? Or रूट कैनल करने की प्रक्रिया ?

Ans. तो सबसे पहले आपको एक एनेस्थीसिया (Anesthesia) दिया जाएगा। यह लोकल एनएसथीसिया (Anesthesia) होगा। जिसका मतलब है कि इसमें आपको बेहोश नहीं किया जाएगा। एनेस्थीसिया (Anesthesia) देने के बाद आपको बिल्कुल भी दर्द नहीं होगा। एनेस्थीसिया (Anesthesia) आपको पहली विजिट (Visit) में ही दिया जाएगा। उसके बाद आपको 2 से 3 मिनट वेट करना होगा। जब तक आपका जो मुंह अच्छी तरह नंब (Numb) या सुन नहीं हो जाता। उसके बाद आपका डेंटिस्ट डेंटल ड्रिल से आपके दांत का ऊपरी भाग जिसे हम एनिमल (Enamel) कहते हैं। उसे ड्रिल करेगा। उसके बाद वह डेंटिन (Dentin) को ड्रिल करके पल्प तक पहुंचेगा।

और वहां पर एक इंस्ट्रूमेंट (Instrument) जिसे फाइल (File) कहते हैं। उसकी मदद से वह आपके दांतों की नसों में जो इंफेक्शन है। उसे बाहर निकालेगा और उसे अच्छी तरह से साफ करने के बाद वहां पर Gutta-percha मैटीरियल की फीलिंग कर देगा। उसे फिल करने के बाद जितने मटेरियल की वहां पर जरूरत है। मतलब जितना मेटीरियल नसों की जगह ले रहा है। उसे वहां पर रखकर बाकी का मटेरियल काट देगा। और वहां पर ऊपरी भाग में फीलिंग कर देगा। और आरसीटी होने के बाद आपको कैप चढ़ाने की सलाह दी जाती है। कहीं केस (Case) में कैप चढ़ाया भी नही जाता। अगर आपका डेंटिस्ट आपको कैप चढ़ाने की सलाह दे। तो आप अपने दांतों पर जरूर कैप चढ़वाएं।

नोट =  What is PANDEMIC ? | EPIDEMIC vs PANDEMIC | In English

रूट कैनल ट्रीटमेंट को अच्छी तरह से समझने के लिए आप यह वीडियो पर क्लिक करके देख सकते है।

Q3. दूसरी विजिट (Visit) में एनेस्थीसिया (Anesthesia) दिया जाएगा ?

Ans. दूसरी विजिट (Visit) में आपको एनेस्थीसिया (Anesthesia) की जरूरत नहीं होती। लेकिन अगर आपके डॉक्टर को लगा कि आपको एनेस्थीसिया (Anesthesia) की जरूरत है। तो वह दूसरी विजेट में भी आपको एनेस्थीसिया दिया जा सकता है।

नोट = दिल को स्वस्थ रखने के आठ तरीके-Tips For Healthy Heart

Q4. रूट कैनाल ट्रीटमेंट करवाने मैं कितना समय लगता है ?

Ans. तो इसके लिए आपको आपके डेंटिस्ट से बात करनी होगी। क्योंकि आपका जो डेंटिस्ट है। वह दो से तीन सिटिंग (Sitting) में करें। और यह हो सकता है। कि जो आपका डेंटिस्ट तीन से चार सेटिंग भी लेले। और हर एक सिटिंग 30 मिनट से 45 मिनट की होती है। वह आपको आपके डेंटिस्ट से ही पता चलेगा। की आरसीटी में कितना समय लगेगा।

नोट = Caffeine Benefits and Side Effect | कैफीन के फायदे और नुकसान | In Hindi

Q5. आरसीटी करवाने मैं कितना खर्च आएगा ?

Ans. तो देखिए इसकी जो स्टार्टिंग प्राइस है। वह 2000 INR है। आप किस शहर में रहते हैं।आप किस तरह का डेंटिस्ट के पास जाते हैं। वह चीजें भी इस प्राइस पर इफेक्ट (Effect) डालती हैं। यह 2000 INR सिर्फ आरसीटी का है। उसके बाद जो कैप का खर्च आता है। वह अलग से आएगा। कैप भी बहुत तरह के होते हैं। आपको कौन सा कैप चाहिए। किस तरह का कैप चाहिए। क्या साइज आपका यह सब कुछ जानने के लिए आपको आपके डेंटिस्ट से ही मिलना पड़ेगा। और वह ही आपको अच्छी से अच्छी सलाह दे पाएगा। कि आपको खर्चा कितना आएगा। कितना टाइम जाएगा। यह मैंने सिर्फ आपको एक इस्टीमेट (Estimate) बताए हैं।

नोट = What is Immunity? | Innate & Adaptive Immunity | In Hindi

Q6. आरसीटी के बाद कोंसी चीजों का ध्यान रखना चाहिए ?

Ans. तो रूट कैनाल ट्रीटमेंट करवाने के बाद। सबसे पहली चीज यह है। कि अगर आपको कोई दर्द महसूस होता है। तो आप तब ही एक पेंकिलर लीजिए। दूसरी चीज है। कि जहां पर आप का रूट कैनल ट्रीटमेंट हुआ है। वहां पर आप आराम से ब्रश करे। अगर आपको कोई सूजन (Swelling) महसूस हो। तो आप आइस पैक का इस्तेमाल करें।

नोट = गुर्दों को स्वस्थ रखने के 7 नेचुरल तरीके-Tips For Healthy Kidneys

तो मैं आशा करता हूं आपको आपके सभी सवालों का जवाब मिल गया होगा। और अगर आपको अभी भी कुछ सवालों का जवाब नहीं मिला है। तो आप मुझे नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं। अगर कोई सुजाहो है तोह आप हमे contact us पर क्लीक करके बता सकते है। मैं आपके सभी प्रशन का उत्तर जरूर दूंगा। तो मैं मिलता हूं आपसे एक और अगले नए आर्टिकल में। तब तक के लिए आप हंसते रहिए और तंदुरुस्त रहिए।

Share with your freinds
0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!